top of page
  • dhadakkamgarunion0

*ABHIJEET RANE)*

*ABHIJEET RANE)*

मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे जी के आत्मविश्वास का कोई जवाब नहीं।उनका कहना है कि शिवतीर्थ में दशहरा रैली पूरी धूमधाम से मनाई जाएगी। जल्द ही जरूरी अनुमतियां भी मिल जाएंगी। बकौल मुख्यमंत्री "मुझे एक साल के लिए दशहरा सभा की जिम्मेदारी दी गई थी, मैंने इतनी भीड़ इकट्ठी की कि एक चींटी भी मैदान में प्रवेश नहीं कर सकी।" देखते हैं कि इस बार वे क्या करते हैं?

 

*ABHIJEET RANE (AR)*

शिवतीर्थ पर शिवसेना की दशहरा रैली जैसा आत्मविश्वास मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे अगर इस ओर दिखाते तो एक बड़ी परियोजना राज्य के हाथ से फिसलती नहीं गयी और एक लाख करोड़ रुपये से अधिक का निवेश भी नहीं चला जाता। यह भी सच है कि महा विकास आघाड़ी सरकार जब सत्ता में थी तो उसने इस परियोजना की पुरजोर वकालत की थी और लगभग तय हो गया था कि संयंत्र महाराष्ट्र में लगेगा। लेकिन एकनाथ शिंदे के कार्यकाल में सेमीकंडक्टर की एक बहुत बड़ी परियोजना गुजरात चली गई।

 

*ABHIJEET RANE (AR)*

एनसीपी भला कबसे भविष्यवाणी करने लगी? एनसीपी की ही भविष्यवाणी है कि मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे के नेतृत्व वाले शिवसेना के बागी गुट के 50 में से 45 विधायक ‘अगले चुनाव में हार जाएंगे। कहीं भविष्यवाणी सत्ता की मलाई से बेदखल होने की खुन्नस का प्रतीक तो नहीं है!!!!’

 

*ABHIJEET RANE (AR)*

कांग्रेस की महत्वाकांक्षी 'भारत जोड़ो यात्रा' का कैम्पेन विवादों में फंस गया है। कांग्रेस ने आधिकारिक ट्विटर हैंडल से एक तस्वीर शेयर की है, जिसमें आरएसएस के यूनिफॉर्म यानी खाकी नेकर को आग लगाते दिखाया गया है। यह कैम्पेन तब रिलीज किया गया, जब राहुल गांधी यात्रा के दौरान केरल में हैं। कांग्रेस को ऐसा नहीं करना चाहिए।

 

*ABHIJEET RANE (AR)*

एक तरफ राहुल गांधी 'भारत जोड़ो यात्रा' पर निकले हैं, दूसरी तरफ कांग्रेस के 8 विधायक टूट गए। गोवा की मुख्य विपक्षी पार्टी कांग्रेस के आठ विधायक आज भाजपा में शामिल होंगे। अब कांग्रेस के पास गोवा में सिर्फ 3 विधायक बचेंगे। यानी कि राहुल गांधी को पहले कांग्रेस जोड़ना चाहिए।

2 views0 comments

Comments


bottom of page