top of page
  • dhadakkamgarunion0

मोदी मंत्र की कामयाबी::: कश्मीर में हालात अब सामान्य हो रहे हैं।

मुंबई युवक कांग्रेस अध्यक्ष पद के लिए एक व्यक्ति एक पद का फार्मूला "एआर उपाय- अभिजीत राणे उपाय" के रूप में मैं पेश करता हूँ।

इस नाते पूर्व मंत्री बाबा सिद्दीकी के पुत्र व विधायक जीशान सिद्दीकी की बजाय एनएसयूआई के दो बार के अध्यक्ष सूरज सिंह ठाकुर को ही मुंबई युवक कांग्रेस अध्यक्ष पद की जिम्मेदारी मिलनी चाहिए।

*@ अभिजीत राणे*

 

प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी ने भारत बायोटेक की कोवैक्सिन लेकर स्वदेशी मूल्यों में आस्था जगाई है।

मेरा भारत महान

*@ अभिजीत राणे*

 

वन मंत्री संजय राठौड़ ने तो इस्तीफा दे दिया पर क्या सामाजिक न्याय मंत्री धनंजय मुंडे भी इस्तीफा देंगे।

मुंडे जी पर भी तो दुष्कर्म के आरोप लगे हैं!!!

*@ अभिजीत राणे*

 

प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी सचमुच में हनुमान हैं जो भारतीय लोगों की महामारी से रक्षा के लिए वैक्सीन रूपी संजीवनी लेकर आए हैं।

अभिनंदन मोदी जी।

*@ अभिजीत राणे*

 

कांग्रेस के असंतुष्ट नेताओं में शामिल जी-23 के सदस्य और महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री पृथ्वीराज चव्हाण को असम विधानसभा चुनावों में मिली महत्वपूर्ण जिम्मेदारी!

चव्हाण के नेतृत्व की स्क्रीनिंग कमेटी ही चुनेगी उम्मीदवार!!

*@ अभिजीत राणे*

 

मोदी मंत्र की कामयाबी::: कश्मीर में हालात अब सामान्य हो रहे हैं।

आतंकी गतिविधियां, पत्थरबाजी, लगातार बंद व राष्ट्र विरोधी प्रदर्शन अब नाममात्र के रह गए हैं।

कश्मीर में सुरक्षा व विश्वास की भावना के पीछे मोदी करिश्मा!!!

*@ अभिजीत राणे*

 

एक महीने में चौथी बार एलपीजी के मूल्य में बढ़ोतरी।

फरवरी से अब तक कीमतें 125 रूपए बढ़ी।

मंहगाई डायन छोड़ने वाली नहीं है!

*@ अभिजीत राणे*

 

*जी 23 के नेताओं का ""कुरुक्षेत्र""!*

कांग्रेस में असंतुष्ट नेताओं (G-23) और राहुल गांधी के बीच दरार खुलकर सामने आ गई है। बताया जा रहा है कि जम्मू-कश्मीर के कार्यक्रम के बाद अब ये नेता हरियाणा के कुरुक्षेत्र में दूसरे कार्यक्रम की योजना बना रहे हैं। एक तरफ जहां जी-23 के नेता आलाकमान के विरोध में खुलकर सामने आ गए हैं तो वहीं हाईकमान इस पूरे मसले को बिल्कुल शांति से हल करने में लगी हुई है।

पार्टी हाईकमान इस पूरे मसले को बेहद शांति से ठीक करना चाहती है ताकी बाकी लोगों को कोई गलत संदेश ना जाए। वहीं गांधी परिवार जी-23 के नेताओं के खिलाफ भी कुछ खास सख्य रवैया नहीं अपना रही है। इन नेताओं से पार्टी हाईकमान ने अभी तक जवाब भी नहीं मांगा। इसकी वजह ये भी बताई जा रही है कि पार्टी फिलहाल की किसी भी तरह की शर्मिंदगी से बच रही है।

*@ अभिजीत राणे*

4 views0 comments

Kommentare


bottom of page