top of page
  • dhadakkamgarunion0

आखिर कब शुरू होगा कोरोना वैक्सिनेशन का चौथा चरण।

✒️महाराष्ट्र में कोरोना संक्रमितों की संख्या के लगातार बढ़ने को लेकर उद्धव सरकार सजग हो गई है और किसी भी स्थिति से निपटने के लिए सरकार की तैयारी भी है। राज्य में वैक्सिनेशन की रफ्तार के साथ टेस्टिंग लगातार बढ़ाई जा रही है। मुंबई मनपा का ध्यान कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग व टारगेट टेस्टिंग पर भी है।

@ अभिजीत राणे

www.abhijeetrane.in

 

✒️ मैं विधि एवं न्याय और कार्मिक मंत्रालयों पर बनी संसद की स्थायी समिति के उस सुझाव का समर्थन करता हूँ जिसके मुताबिक देश में एक साथ चुनाव कराने से मतदाताओं की उदासीनता कम होगी।

इस तरह होना चाहिए। एक साथ चुनाव होने से बार-बार चुनावों को लेकर मतदाता में पैदा हुई उदासीनता को कम किया जा सकेगा और आम जनता, खासतौर पर मतदाताओं को चुनावी प्रक्रिया में भाग लेने के लिए प्रोत्साहित किया जा सकेगा, ये एकदम सही आकलन है। इससे सरकारी खजाने पर बोझ कम पड़ेगा और राजनीतिक दलों का खर्च कम होगा व मानव संसाधन का अधिकतम इस्तेमाल किया जा सकेगा। और सबसे बड़ी बात तो ये है कि एक देश, एक चुनाव या एक साथ सभी चुनाव कराने का विचार देश के लिए नया नहीं है, क्योंकि 1952, 1957 और 1962 में पहले के तीन लोकसभा चुनाव के समय चुनाव एक साथ ही हुए थे।

यदि ये परिकल्पना या सुझाव लागू होता है तो देश की निर्वाचन प्रणाली के लिए एक बेहतरीन कदम होगा।

@ अभिजीत राणे

www.abhijeetrane.in

 

✒️ आप इस बात को नोट करके रख लीजिए कि आने वाले दिनों में एक बार फिर "तीसरा मोर्चा" अस्तित्व में आ जाएगा। और इसके सूत्रधार होंगे एनसीपी सुप्रीमो शरद पवार जी।

कांग्रेस के पी सी चाको के एनसीपी में शामिल होने के समय पवार साहब ने इसका संकेत दिया है।

चाको केरल में एलडीएफ के लिए काम करेंगे। केरल विधानसभा चुनावों में माकपा के नेतृत्व वाले एलडीएफ का एनसीपी भी एक हिस्सा है।

@ अभिजीत राणे

www.abhijeetrane.in

 

✒️ मेरा ये सवाल सरकार से है कि आखिर कब शुरू होगा कोरोना वैक्सिनेशन का चौथा चरण।

ताकि सभी को महामारी से एक सुरक्षा कवच मिल सके।

वैसे कहा तो ये जा रहा है कि इसके 15 अप्रैल से शुरू होने की उम्मीद है।

सावधान रहें, सतर्क रहें।

@ अभिजीत राणे

www.abhijeetrane.in

 

✒️ तमाम तरह की रोक अदालती फटकार के बावजूद फीस के मुद्दे पर स्कूल अभी भी पालकों को परेशान कर रहे हैं।

स्कूल प्रशासन व पालकों के कई विवाद तो अदालत भी गए हैं फिर भी स्कूल सुधरते नहीं।

अब स्कूल पालक से बंध पत्र लिखवा रहे हैं यानी पालक भविष्य में स्कूल के खिलाफ कोई शिकायत ही नहीं कर सकते।

अंधेर नगरी, बहरा राजा जैसे हालात!!!

@ अभिजीत राणे

www.abhijeetrane.in


5 views0 comments

Comments


bottom of page